Skip to toolbar

Water Conservation

दिल्ली में जल संरक्षण

Viewing 1 post (of 1 total)
  • Author
    Posts
  • #380
    MGD Admin
    Keymaster

    दिल्ली में 90 प्रतिशत पानी के सोर्स गंगा और यमुना नदियां हैं जो उत्तराखंड राज्य के पहाड़ों से निकलती हैं। इन नदियों का पानी दस वाटर ट्रीटमेंट प्लांट्स के द्वारा फ़िल्टर करके 120 जलाशय या रिजर्वायर द्वारा दिल्ली वासियों के घरों में सप्लाई किया जाता है। वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से निकलने वाले पानी के सैम्पल्स को BIS Bureau of Indian Standards के स्टैंडर्ड्स से टेस्ट किया जाता है।

    आज दिल्ली में साफ़ पीने वाले पानी की कमी को समझना जरुरी है और पानी की हो रही बर्बादी पर दिल्ली की जनता का जागरूक होना जरुरी है। यदि भू जल को इसी तरह व्यर्थ करते रहे और और नदियों से आने वाले पानी कीमत को नहीं समझे तो बहुत जल्द पानी की एक एक बूँद के लिए तरसना होगा।

    तो आइये उन् लोगों के साथ जुड़ें जो वर्षा के व्यर्थ हो रहे जल को नयी तकनीक की मदद से धरती के अंदर पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं। जो जल संरक्षण के नए इडस सरकार तक पहुंचा रहे हैं और सरकार भी नए नए आइडियाज पे कार्य कर रही है। एक तरफ जहां सरकार पानी की सफाई के लिए कई वाटर ट्रीटमेंट प्लांट्स प्लान कर रही है वहीँ हम लोगों को भी घरों में और अपनी सोसाइटी और कॉलोनी में सरकार की मदद से पानी का संरक्षण करना होगा।

    जीवन स्त्रोत वृक्ष और वृक्षों के जीवन स्त्रोत जल को संरक्षित करना आज मिशन ग्रीन दिल्ली कम्युनिटी का एक और गोल बन गया है। आइये मिशन ग्रीन दिल्ली कम्युनिटी प्लेटफार्म से जुड़कर जल से जुडी समस्याओं पर बात करें और उसमे एक नागरिक होने के नाते हम क्या कर सकते हैं और सरकार के साथ कैसे जुड़ सकते हैं इस पर बात करें।

Viewing 1 post (of 1 total)
  • You must be logged in to reply to this topic.